अपने एंडरोइड को सुरक्षा खतरे से कैसे बचाएं?

अपने एंडरोइड को सुरक्षा खतरे से कैसे बचाएं?
अपने एंडरोइड को सुरक्षा खतरे से कैसे बचाएं?

हममें से अधिकतर लोग रूटिड एंडरोइफ डिवाइस इस्तेमाल करते हैं। इसमें फोन की सुरक्षा को खतरा रहता है। हम आपको ऐसे कुछ तरीके बता रहे हैं जिनसे आप अपने एंडरोइड फोन को वायरस और खतरों से बचा सकते हैं।
रूट एक्सेस को ध्यान पूर्वक मैनेज करें
यदि आप रूटिड एंडरोइड डिवाइस इस्तेमाल कर रहे हैं तो आपके पास एडमिनिस्टर एक्सेस होता है। इस एक्सेस को एप्स द्वारा एडवांस फंक्शन्स के लिए काम में लिया जा सकता है, इन्हें ये गलत कामों में भी इस्तेमाल करती हैं। इसलिए उन एप्स का ध्यान रखें जिन्हें आप रूट एक्सेस दे रहे हैं।
एप्प पर्मिशन को मैनेज करें
गूगल प्ले स्टोर पर कई लाखों एप्स हैं जिन्हें आप डाउनलोड करते हैं तो ये आपके एंडरोइड डेटा को इस्तेमाल करने का पर्मिशन मांगती हैं। इसलिए ज़रूरी है यह पर्मिशन सोच समझकर दें ताकि आपका डेटा गलत इस्तेमाल ना हो सके।
रूटिड डिवाइस के लिए फायरवाल यूज करें
फायरवाल आपके ऑपरेटिंग सिस्टम और बाहरी नेटवर्क के बीच डेटा बैरियर का काम करता है। यदि आप किसी एप पर विश्वास नहीं करते हैं तो उसके नेटवर्क एक्सेस को ब्लॉक कर सकते हैं डाटा लीक ना हो।
बढ़िया एंटी-वायरस का इस्तेमाल करें
रूटिड नेटवर्क पर वायरस ज़्यादा आ सकते हैं, ऐसे में आपके एंडरोइड के लिए बढ़िया एंटी-वायरस इस्तेमाल करें।
रूटिंग के बाद अनओथोराइज्ड एप्स इन्स्टाल ना करें
कई लोग प्रि-इन्स्टाल एप्स को हटाने के लिए एंडरोइड को रूट करते हैं, लेकिन इनको हटाने पर वायरस अटैक का खतरा ज़्यादा रहता है। कई लोग पुरानी के बजाय नई एप्स इस्तेमाल करते रहते हैं इसलिए एप्स से ओथोराइज्ड एप्स इन्स्टाल करें।
सिस्टम क्लीनर इस्तेमाल करें
सुरक्षा की दृष्टि से यह एक अच्छा टूल है। इससे आप एप्प्स को हटा सकते हैं, उन्हें लोक कर सकते हैं। गलत एप्स को स्केन कर सकते हैं।
एंडरोइड डिवाइस मैनेजर इस्तेमाल करें
गूगल पर अपने लॉस्ट एंडरोइड को ट्रैक करने के लिए एंडरोइड डिवाइस मैनेजर बढ़िया टूल है।
एप लॉकर का इस्तेमाल करें
कई बार आपका फोन दूसरे लोग भी इस्तेमाल करते हैं। कोई दूसरा व्यक्ति आपके फोटो, विडियो व अन्य ज़रूरी डेटा को यूज ना कर सके इसके लिए एप लॉकर का इस्तेमाल करें।
प्रि-इन्स्टाल एप्स हो न हटाएँ
कई एप्स ऐसी होती हैं जो एंडरोइड डिवाइस को सही चलाने के लिए ज़रूरी हैं इसलिए प्रि-इंसताल एप्स को डिलीट ना करें।
हमेशा बैकअप रखें
अपने डेटा को खोना एक बुरा अनुभव है। कभी ऐसा ना हो कि डेटा का बैकअप ना हो और फोन खराब हो जाये। इसलिए हमेशा डेटा बैकअप रखें।

Get Update By Email